kartik month

आज से शुरू हुआ कार्तिक मास, जानिए क्या है इसका महत्व और आने वाले प्रमुख त्योहार

New Delhi: हिंदू पंचांग के अनुसार 25 अक्टूबर 2018 से साल का सबसे पवित्र महीना कार्तिक माह (Kartik Month) आरम्भ होने जा रहा है। कार्तिक महीना त्योहारों और दान-पुण्य का …

Read More
Shaktipeeth

नवरात्रि 2018: ये है उत्तर भारत के 5 प्रसिद्ध शक्तिपीठ, जहां पूरी होती है हर मनोकामना

New Delhi: हिंदू धर्म में नवरात्रि पर शक्तिपीठों के दर्शन करने का विशेष महत्व बताया गया है। पुराणों में शक्तिपीठों की कुल संख्या 51 बताई गई है। शास्त्रों के अनुसार …

Read More

ब्रह्मांड को समझे बिना आत्मा का पता नहीं लगा सकते

New Delhi: वाणी के चार स्तर होते हैं – परा, पश्यन्ति, मध्यमा, और वैखरी। मनुष्य केवल चौथे स्तर में बोलते हैं। जो भाषा में हम बात करते हैं वह वैखरी …

Read More

विभीषण ही नहीं मंदोदरी भी थी रावण की मौत की जिम्मेदार,हनुमान को बताया था कैसे खत्म होगा लंकापति

New Delhi: रावण की मृत्यु युद्धभूमि में हुई थी परंतु यही उसके अंत का सत्य नहीं है। उसकी मृत्यु अनेक प्रकार के शाप तथा विनाश को अंजाम देने वाली घटनाओं …

Read More

अनोखा हनुमान मंदिर जहां हर साल रहता है बाढ़ का इंतजार, बढ़ते जल स्तर को माना जाता है शुभ

New Delhi: इस समय बरसात का मौसम चल रहा है और लगभग देश का आधा हिस्सा बाढ़ की चपेट में घिरा है। देश की हर नदी उफान पर है। नदियों …

Read More
pravachan on women

स्त्री को बाधा समझने वाले भगोड़े होते हैं

New Delhi: तुम मुझसे पूछ रहे हो कि संतों ने कहा है कि स्त्री बाधा है। जिस किसी ने भी ऐसा कहा है…उसके लिए स्त्री बाधा रही होगी, यह बात …

Read More
Pravachan

दुख को मिटाना हो, तो सुख की कल्पना छोड़नी पड़ेगी

New Delhi: यदि दुख को मिटाना हो, तो सुख की कल्पना छोड़ देनी पड़ेगी और दु:ख को ही जानना पड़ेगा। जो दुख को जानता है, उसका दु:ख मिट जाता है। …

Read More

सती और पार्वती ही नहीं बल्कि ये 2 देवी भी थीं शिवजी की पत्नी, जानें क्या थे उनके नाम

New Delhi: हिंदू पौराणिक कथाओं में उल्लेख मिलता है कि भगवान शिव ने चार विवाह किए थे। उन्होंने यह सभी विवाह आदिशक्ति के साथ ही किए थे। भगवान शिव ने …

Read More

संसारी वस्तु से नहीं भगवान से करें प्यार

New Delhi: हमारा मन माया की ओर स्वतः जाता है। अगर हम अपना मन सही दिशा में यानी माया के विपरीत दिशा में नहीं ले जाएंगे तो दुनियादारी के बारे …

Read More

उसके पास सिर्फ मन होता है और कुछ नहीं

New Delhi: संन्यास का अर्थ ही यही है कि मैं निर्णय लेता हूं कि अब से मेरे जीवन का केंद्र ध्यान होगा। और कोई अर्थ ही नहीं है संन्यास का। …

Read More