Pravachan

जीवन से जुड़ा वो सच जिसे स्वीकारना ही पड़ता है

New Delhi: जीवन अनेकों समस्याओं के साथ उलझा हुआ है। उन उलझनों को सुलझाने में, प्रगति पथ पर उपस्थित रोड़ों को हटाने में बहुधा हमारी शक्ति का एक बहुत बड़ा …

Read More
Pravachan

मूर्ति के पैर पकड़ कर बैठना ईश्वर की शरण नहीं

New Delhi: संसार माया जाल है। इस जाल में उलझक जीव जन्म जन्मांतर तक भटकता रहता है। हो सकता है कि आपने भी अब तक करोड़ों जन्म लिये हों और …

Read More
Pravachan

सुख की कल्पना छोड़ोगे तभी दुखों का अंत होगा

New Delhi: यदि दुख को मिटाना हो, तो सुख की कल्पना छोड़ देनी पड़ेगी और दु:ख को ही जानना पड़ेगा। जो दुख को जानता है, उसका दु:ख मिट जाता है। …

Read More
Pravachan

क्रिसमस 2018: ईसा मसीह के 10 अनमोल विचार, जो देते हैं अद्भुत प्रेरणा

New Delhi: क्रिसमस (Christmas Day) को ईसा मसीह के जन्‍मदिवस के तौर पर मनाया जाता है। प्रभु यीशु ने सदैव लोगों को दया भावना अपनाकर अहिंसा की राह पर चलने …

Read More
Pravachan

कहीं आप भी पाप की पूंजी तो जमा नहीं कर रहे

New Delhi: क्या आपने कभी किसी के ऊपर हो रहे अत्याचार के विरूद्ध आवाज उठायी है। किसी कमज़ोर और लाचार को पिटता देखकर मदद के लिए आगे आएं हैं। अगर …

Read More
lord vishnu

जरा हाथ छोड़कर तो देखो ईश्वर तुम्हारा हाथ पकड़ लेगा

New Delhi: समर्पण परमात्मा का पहला चरण है तुम्हारे भीतर (Pravachan)। अंधेरा है अभी, लेकिन किरण आ गई। भोर का पहला पक्षी बोला। समर्पण भोर के पहले पक्षी की आवाज …

Read More
Pravachan

बुढ़ापा जीवन का सुनहरा अध्याय है और बुजुर्ग विश्वविद्यालय

New Delhi: बूढा आदमी दुनिया का सबसे बडा विश्वविद्यालय (Pravachan) है। बूढे की एक एक झुर्रियों में जीवन के हजार-हजार अनुभव लिखे होते हैं। बूढे की कांपती हुई गर्दन कहती …

Read More
pravachan

जो दिखावा करते हैं वो खुद को ही धोखा देते हैं

New Delhi: व्यक्ति सुख कामी होता है और हमेशा सुख में रहना चाहता है। भोग विलास के कारण वह परमात्मा के बताए नियमों से दूर होता जाता है। जबकि मनुष्य …

Read More
Pravachan

मनुष्य को संस्कारवान बनाता है अध्यात्म

New Delhi: पिछले कुछ समय से अध्यात्म के क्षेत्र में बाजारवाद का प्रभाव बढ़ा है। इसी वजह से अध्यात्म (Pravachan) के क्षेत्र में भी अवमूल्यन हुआ है। अत: स्वस्थ समाज …

Read More
pravachan

ऐसे बढ़ाएं अपने अंदर का प्रेम

New Delhi: अधिकतर हमारे जीवन में, इच्छाएं हमें नष्ट कर देती हैं। मुल्ला नसरुद्दीन की एक कहानी है। वे घोड़े पर सवार थे और घोड़ा घेरे में चक्कर लगा रहा …

Read More