Pravachan

जरा हाथ छोड़कर तो देखो ईश्वर तुम्हारा हाथ पकड़ लेगा

New Delhi: समर्पण परमात्मा का पहला चरण है तुम्हारे भीतर। अंधेरा है अभी, लेकिन किरण आ गई। भोर का पहला पक्षी बोला। समर्पण भोर के पहले पक्षी की आवाज है। …

Read More