शुक्रवार को लक्ष्मीजी की पूजा से होते हैं क्या लाभ, जानें देवी लक्ष्मी से जुड़ी अन्य मान्यताएं

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India
New Delhi: पूजा पाठ करने वाले और भक्त‍ि भाव में लीन लोग शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) को पूजते हैं। हिंदू मान्यता के अनुसार शुक्रवार को लक्ष्मी का पूजन करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और घर में धन की वर्षा होती है।

हिंदू धर्म में शुक्रवार को मां लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) का दिन माना जाता है। मान्यता है कि इस दिन लक्ष्मी पूजन से धन की प्राप्ति होती है। इसलिए वे लोग जो आर्थिक तंगी का सामना कर रहे होते हैं शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी का पूजन करते हैं। इस‍ दिन व्रत रखने का भी प्रावधान है।

हिंदू धर्म में सप्ताह का हर दिन किसी न किसी देवता या देवी को समर्पित है। शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी, मां संतोषी की पूजा की जाती है। शास्त्रों में लक्ष्मी को चंचला कहा गया है। चंचला का मतलब है ऐसी देवी जिनका किसी एक स्थान पर अधि‍क समय तक रहना तय नहीं। वे चंचल हैं इसलिए एक स्थान पर ज्यादा नहीं रूकतीं। तभी तो कहते हैं न धन का क्या है आज आपको पास अपार है कल हो सकता है कि बिलकुल न हो…

हिंदू धर्म में लक्ष्मी को धन की देवी माना जाता है। इसलिए धन को अपने पास स्थाई बनाने के लिए मां लक्ष्मी का पूजन कर उन्हें प्रसन्न रखा जाता है, ताक‍ि वे कहीं ओर न जाएं। इसके लिए हिंदू धर्म में कई उपाय, पूजन, आराधना और मंत्र-जाप आदि का विधान है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

मान्यताएं

लक्ष्मी पूजन से जुड़ी कुछ मान्यताएं हैं, जिनका पालन करके ही मां लक्ष्मी का पूजन आदि किया जाता है।

मान्यता के अनुसार लक्ष्मी समुद्र-मंथन में निकली थीं। मंथन से पहले सभी देवता गरीब और ऐश्वर्य विहीन थे। समुद्र मंथन में लक्ष्मी के प्रकट होने के बाद इंद्र ने महालक्ष्मी की स्तुति की। इसके बाद महालक्ष्मी के वरदान के बाद उन्हें धन प्राप्त हुआ।

मान्यता है कि ऋषि विश्वामित्र के कठोर आदेश अनुसार ही लक्ष्मी साधना को गोपनीय एवं दुर्लभ रखा जाता है। कहते हैं कि मां लक्ष्मी की साधना को गुप्त रखना चाहिए।

शास्त्रों में महालक्ष्मी के आठ स्वरुपों का वर्णन है। मां के इन स्वरुपों को जीवन की आधारशिला माना गया है।