पुत्रदा एकादशी: आज शाम दीपक जलाकर तुलसी के सामने बोलें ये मंत्र, कभी नहीं होगी पैसों की कमी

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live India Hindi, Live News
New Delhi: हिंदू धर्म में ऐसी ऐसी मान्यताएँ हैं, जिनके अनुसार अगर व्यक्ति अपना जीवन जिए तो उसके जीवन में किसी तरह की कोई परेशानी ही नहीं रहेगी।

कहा जाता है कि इस दुनिया में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो परेशानियों से मुक्त होगा। भले ही कम लेकिन परेशनियाँ हर व्यक्ति के जीवन में होती हैं। परेशनियाँ हर व्यक्ति के जीवन का एक हिस्सा होती हैं। बिना परेशानियों के कोई भी मनुष्य नहीं है। लेकिन जो लोग धर्म-कर म करते हैं, उनके जीवन की परेशनियाँ बहुत जल्दी दूर भी हो जाती हैं।

तुलसी को छू लेने से मनुष्य हो जाता है पवित्र

सूर्यास्त के समय तुलसी (Tulsi) के पौधे के समक्ष डिंपल जलाना चाहिए। इसके साथ ही एक मंत्र का जाप करना चाहिए। इससे व्यक्ति को जीवन की परेशानियों से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाती है। तुलसी के पौधे के बारे में कहा जाता है कि बिना तुलसी के पौधे के श्री नारायण की पूजा सफल ही नहीं होती है। तुलसी के पौधे को केवल छू लेने से ही व्यक्ति के कई पाप कट जाते हैं। व्यक्ति जन्मों-जन्मों के पाप से हमेशा के लिए तर जाता है। तुलसी के पौधे को स्वर्ग का पौधा भी कहा जाता है। इसमें कई देवी-देवताओं का वास भी माना गया है।

tulsi light diya

सुबह जल चढ़ाएं और शाम को तुलसी के नीचे जलाएँ दीपक

विष्णु पुराण के अनुसार अगर घर के मुख्य द्वार पर तुलसी का पौधा लगाया जाते तो घर में हमेशा सुख-शांति बनी रहती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। तुलसी (Tulsi) के पौधे को सुबह जल चढ़ाने और शाम के समय उसके नीचे घी का डिंपल जलने से घर-परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहती है। दीपक जलाने के बाद यह मंत्र बोलने से शुभ फल की प्राप्ति भी होती है।

मंत्र

महाप्रसाद जननी,सर्व सौभाग्यवर्धिनी आधि व्याधि हरा नित्यं,तुलसी त्वं नमोस्तुते।।

अर्थ: तुलसी आप जीवन में सभी प्रकार से सौभाग्यों को बढ़ाने वाली हैं। हमेशा आप लोगों की बीमारियों को दूर करके उन्हें स्वस्थ्य रखती हैं। हम आपको नमस्कार करते हैं।